Attention! Please enable Javascript else website won't work as expected !!

Daily Tippani | Shrinathji Temple, Nathdwara

Tithi Tippani Date Shringar Utsav
Ekam, 2074, Margshirsh, Krushna Paksh 05-Nov-2017 लाल साटन के वस्त्र लाल साटन के टोपा पर पन्ना को टोपा धरें| पन्ना के सब आभरण| श्रुंगार हल्कों| व्रतचर्या अथवा गोपमासारामभ:।
Tij, 2074, Margshirsh, Krushna Paksh 06-Nov-2017 सभी द्वार में हल्दी से डेली मंढे,बंदरवाल बंधे।सभी समय जमना जल की झरीजी आवे।दो समय थाली की आरती उतरे।गेंद चौगान,दिवला सोना के।ति,श्री गोविंदलालजी महाराज के उत्सव की पांच दिन की बधाई बैठे।
Choth, 2074, Margshirsh, Krushna Paksh 07-Nov-2017 लाल लिसमारजी के वस्त्र| लाल जरी को बीच को दुमला| चमकने रूपेरी कतरा चंद्रिका| हीरा के आभरण बड़े फोंदना| श्रुंगार भारी | कुंडल| पट बाघ बकरी को मंडे| अनोसर में कसूमल पाग घरके पोढ़े| छः स्वरूप को उत्सव। तिलकायित श्री दाऊजी महाराज कृत।
Pancham, 2074, Margshirsh, Krushna Paksh 08-Nov-2017 घेरदार बागा,चोली,सुथन सब केसरी साटन के।श्रीमस्तक पे केसरी गोल पाग।मोजाजी लाल साटन के।ठाड़े वस्त्र हरे।पिछवाई केसरी ,वस्त्र जैसी।
Chhath, 2074, Margshirsh, Krushna Paksh 09-Nov-2017 चागदार बागा,चोली,सुथन, पटका सब फिरोजी साटन के।श्रीमस्तक पे ग्वाल पगा।ठाड़े वस्त्र लाल।पिछवाई चिर हरण के भाव की,शीत काल की।
Satam, 2074, Margshirsh, Krushna Paksh 10-Nov-2017 पतंगी वस्त्र को जोड़| श्रुंगार हल्कों| हीरा के आभरण| गोल पाग पर पीलो छोड़| पीलो गददल| गो. ति. १०८ श्री गोविन्दलाल जी महाराज को उत्सव (१९८४)
Atham, 2074, Margshirsh, Krushna Paksh 11-Nov-2017 लाल साटन के वस्त्र| माणक की कुल्हे | हीरा के तरुरा पन्ना को पान| हीरा पन्ना के आभरण| मध्य के फोंदना| श्रुंगार भारी| जोड़ चमकनो| अनोसर में वस्त्र की लाल कुल्हे घर के पोढ़े| श्री गुंसाई जी के दूसरे लालजी श्री गोविंदराय जी को उत्सव (१५९९)
Navam, 2074, Margshirsh, Krushna Paksh 12-Nov-2017 लाल साटन के वस्त्र एवं टोपा|
Dasham, 2074, Margshirsh, Krushna Paksh 13-Nov-2017 हरी घटा | घटा को आरम्भ ( हारी घटा)|
Gyaras, 2074, Margshirsh, Krushna Paksh 14-Nov-2017 श्रृंगार,आभरण सब इच्छानुसार। उत्पति एकादशी व्रतम।
Baras, 2074, Margshirsh, Krushna Paksh 15-Nov-2017 नियम को श्रुंगार लाल जरी को चीरा| बैंगनी रंग के साटन के वस्त्र| सुनहरी जरी की फतवी| लूम की कलंगी| हीरा के आभरण| श्रुंगार हल्कों श्री नवनीत प्रभु कूँ व्रज सूं नाथद्वारा निज मंदिर में पधरावे को उत्सव । गो. ति. १०८ श्री इन्द्रदमन जी (श्री राकेशजी ) महाराजी कृत (२०६३)
Teras, 2074, Margshirsh, Krushna Paksh 16-Nov-2017 चागदार बागा,चोली,सुथन,पटका सब लाल साटन के, सुनहरी किनारी के।मोजाजी टकमा हीरा के।कूल्हे पन्ना की जडाऊ।ठाड़े वस्त्र पिले।पिछवाई लाल साटन की सुनहरी किनारी की। श्री गुंसाई जी के सातवे लालजी श्री घनश्याम जी को उत्सव (१६२८)
Chaudash, 2074, Margshirsh, Krushna Paksh 17-Nov-2017 श्रृंगार,आभरण सब इच्छानुसार
Amavas, 2074, Margshirsh, Krushna Paksh 18-Nov-2017 घेरदार बागा,चोली,सुथन गोल पाग सब स्याम दरियाई के।ठाड़े वस्त्र स्याम।सब साज पिछवाई,खंड,गादी, तकिया सब स्याम दरियाई के श्याम घटा |