Attention! Please enable Javascript else website won't work as expected !!

Daily Tippani | Shrinathji Temple, Nathdwara

Tithi Tippani Date Shringar Utsav
Duj, 2075, Kartik, Shukla Paksh 09-Nov-2018 अभ्यंग होय| लाल खिन्खाप को वागा| जरी को चीरा| ओढ़नी पन्ना की जोड़ी| श्रुंगार हल्कों उत्सव को| चंद्रिका एक सादा| अनोसर में चीरा रहे| यम द्वतीया (भाई दूज)
Tij, 2075, Kartik, Shukla Paksh 10-Nov-2018 सफ़ेद जरी के वस्त्र चीरा| जमाव को कतरा| मानक की जोड़ी| सिंगार हल्कों|
Choth, 2075, Kartik, Shukla Paksh 11-Nov-2018 पीली जरी के वस्त्र
Pancham, 2075, Kartik, Shukla Paksh 12-Nov-2018 पिरोजी जरी के वस्त्र| पिरोजी ग्वाल पाग|मोरशिखा १ | कर्न्फूल ४ | आभरण हीरा के| फोंदना| मध्य के सिंगार|
Chhath, 2075, Kartik, Shukla Paksh 13-Nov-2018 श्याम जरी के वस्त्र,चीरा| पिरोजा के आभरण| श्रुंगार हल्कों| कतरा जमाव को|
Satam, 2075, Kartik, Shukla Paksh 14-Nov-2018 चागदार बागा,चोली,सुथन, ग्वाल पगा सब कत्थाई जरी के।पटका कत्थाई मलमल को,कटि को।ठाड़े वस्त्र अमरसी।पिछवाई चितराम की घसियार मनोरथ के भाव की,वर्ष गाठी लाल गिरधर की। श्री नवनीत प्रभु को व्रज में पधरायवे को विशेष उत्सव ,गो. ति. १०८ श्री इन्द्रदमनजी (श्री राकेशजी) महाराज कृत (२०६३)
Satam, 2075, Kartik, Shukla Paksh 15-Nov-2018 चागदार बागा,चोली,सुथन, ग्वाल पगा सब कत्थाई जरी के।पटका कत्थाई मलमल को,कटि को।ठाड़े वस्त्र अमरसी।पिछवाई चितराम की घसियार मनोरथ के भाव की,वर्ष गाठी लाल गिरधर की।
Atham, 2075, Kartik, Shukla Paksh 16-Nov-2018 सुथन,एक काछनी,लाल छापा की,बड़ी काछनी हरे छापा की।चोली मेघस्याम दरियाई की।पीताम्बर लाल दरियाई को।ठाड़े वस्त्र स्वेत लट्ठा के।पिछवाई कशीदा की,स्याम धरती पे सफ़ेद गायन की। गोपाष्टमी
Navam, 2075, Kartik, Shukla Paksh 17-Nov-2018 अन्नकूट के श्रुंगार होवें| तुलसीजी की वनमाला आवे| अनोसर में केसरी कुल्हे धरे| अक्षय नवमी
Dasham, 2075, Kartik, Shukla Paksh 18-Nov-2018 घेरदार बागा,चोली,सुथन,चीरा सब लाल जरी के।ठाड़े वस्त्र पीले।पिछवाई जरी की कूदती भई गायन की।
Gyaras, 2075, Kartik, Shukla Paksh 19-Nov-2018 चागदार बागा,चोली,सुथन सब सुनहरी जरी के।पटका रूपहरी जरी को।कूल्हे व मोजाजी जड़ाऊ,गोकुलनाथजी वाले।ठाड़े वस्त्र मेघस्याम।पिछवाई स्याम मखमल पे विद्रुम के फूल व जाल वाली,गंगा जमनी। प्रबोधनी एकादशी व्रतम्, देवोत्थापन सायं संध्या में
Gyaras, 2075, Kartik, Shukla Paksh 19-Nov-2018 अभ्यंग उबटन होय| सुनहरी फूरकसाईं जरी के वस्त्र| कुल्हे जोड़ पाँच चंद्रिका को| सब उत्सव के आभरण आवें| श्रुंगार भारी| फोंदना बड़े| मकराकृति कुंडल| लाल शीशफूल हीरा को अर्धचन्द्र| कमलपत्र होय| चोटी नहीं धरें| प्रबोधनी एकादशी व्रतम्, देवोत्थापन सायं संध्या में
Baras, 2075, Kartik, Shukla Paksh 20-Nov-2018 चोली,घेरदार बागा,सुथन चीरा सब सुनहरी,लाल जरी के,पटका केसरी मलमल को,अंतरवास को धरावे।ठाड़े वस्त्र मेघस्याम।पिछवाई लाल मखमल पे तीन तीन वृजभक्त व गायन की। श्री गुंसाई जी के प्रथम लालजी श्री गिरधरजी को उत्सव (१५६७) तथा पंचम लालजी श्री रघुनाथजी को उत्सव (१६११)
Teras, 2075, Kartik, Shukla Paksh 21-Nov-2018 चागदार बागा,चोली,सुथन सब फिरोजी जरी के।पटका फिरोजी मलमल को।श्रीमस्तक पे छज्जेदार पाग।
Chaudash, 2075, Kartik, Shukla Paksh 22-Nov-2018 चागदार बागा,चोली,सुथन, सब पीले खिनखाब के।पटका केसरी।श्री मस्तक पे माणक की कूल्हे ।मोजाजी लाल खिनखाब के।ठाड़े वस्त्र हरे।पिछवाई पीले खिनखाब की,लाल हाशिया की। नि. ली.गो.ति.श्री गोविंदजी महाराज को उत्सव (१८७६)
Punam, 2075, Kartik, Shukla Paksh 23-Nov-2018 चोली चागदार बागा सूथन रूपहरी जरी के पटका स्वेत मलमल को ठाड़े वस्त्र पतंगी मेघस्वामी भी ले है पिछवाई मेघश्याम मखमल पे सिलमा सितारा की सूरज चन्दा बने है चार स्वरूप को उत्सव ,नि. ली.गो. ति. श्री १०८ श्री गोविंद लालजी महाराज कृत, चातुर्मास्य तथा कार्तिक के नियम की समाप्ति,गोपमासाराम्भ