Attention! Please enable Javascript else website won't work as expected !!

Daily Tippani | Shrinathji Temple, Nathdwara

Tithi Tippani Date Shringar Utsav
Ekam, 2076, Baisakh, Shukla Paksh 05-May-2019 (या ऋतू के आखिरी मुकूट काछनी के श्रृंगार) वस्त्र:-दोनों काछनी,सुथन ,पिताम्बर सब लाल मलमल के।चोली नहीं धरावे।ठाड़े वस्त्र स्वेत जामदानी के।पिछवाई लाल मलमल की। आभरण:-हीरा मोती के।बनमाला को श्रृंगार।कली, कस्तूरी व कमल माला धरावे।चोटीजी मीना की कुंडल हीरा के।टोपी,मुकूट डाँख के।वेणु वेत्र लहरिया के।पट लाल ,गोटी शतरंज की। अन्य सब नित्य क्रम।
Duj, 2076, Baisakh, Shukla Paksh 06-May-2019 वैशाख शुक्ल पक्ष द्वितीया। आगम को श्रृंगार। वस्त्र:-पिछोड़ा,गोल पाग लाल मलमल के।ठाड़े वस्त्र पिले।पिछवाई लाल सुनहरी लप्पा की। आभरण:-सब पन्ना के।हल्के श्रृंगार। चार माला धरावे।कर्णफूल जोड़ी पन्ना के।श्रीमस्तक पे मोर चन्द्रिका।वेणु वेत्र हरे मीना के।पट लाल,गोटी छोटी सोना की।आरसी, श्रृंगार में सोना की,राजभोग में बटदार।आज चंदुआ टेरा सफ़ेद बंधे। अन्य सब नित्य क्रम।
Tij, 2076, Baisakh, Shukla Paksh 07-May-2019 ।। अक्षय तृतीया ।। सभी द्वार में डेली मंढे,बंदरवाल बंधे।सभी समय जमनाजल की झरीजी अरोगे।चारो समय थाली की आरती।टेरा चंदुआ सब स्वेत आवे।खस के टेरा आवे।साज सब चाँदी को आवे। अभ्यंग ।गेंद चौगान,दिवाला चाँदी के।आज से चार बाती की आरती आवे।राजभोग में बीड़ा की सिकोरी आवे।मोती को चौखटा। आज से करवा,कुंजा, चंदन की बरनी, शीतल नित्य में आवे। वस्त्र:-पिछोड़ा स्वेत,केसर की कोर को।कूल्हे स्वेत ,रूपहरी किनारी की।ठाड़े वस्त्र केसरी डोरिया के।पिछवाई सफ़ेद,चिकन बूटी की। आभरण:- सब उष्णकाल एवं उत्सव के।मध्य को श्रृंगार। श्रीकर्ण में हीरा के कुंडल धरावे। ।श्रीमस्तक पे तीन मोर चन्द्रिका को जोड़।वेणु वेत्र तीनो मोती के।पट उष्णकाल को,गोटी मोती की।आरसी सोना के डाँड़ी की। राजभोग सरे कुंजा, करवा, पंखा,चन्दन,बरनी आदी को अधिवासन होवे।दर्शन खुले।प्रभु के चन्दन की गोली धरावे।दर्शन पीछे उत्सव भोग आवे।भोग में दूध घर की हाड़ी,बीज के नग, दूध घर को साज,दहीभात,सतुआ,फल फूल,चालनी,संधाना ,शीतल आदी अरोगे।फिर दूसरे राजभोग के दर्शन खुले। सखड़ी भोग में बड़े टूक, पटिया,दहीभात ,सतुवा आदी आरोगे। अक्षय तृतीया, चन्दन यात्रा
Choth, 2076, Baisakh, Shukla Paksh 08-May-2019 श्रृंगार,आभरण सब इच्छानुसार। वस्त्र:-धोती,पटका गुलाबी मलमल के।श्रीमस्तक पे गुलाबी गोल पाग।ठाड़े वस्त्र स्वेत। पिछवाई वस्त्र जैसी गुलाबी मलमल की। आभरण:-सब उष्णकाल के,मोती के।हल्के श्रृंगार।श्रीकर्ण में मोती के कर्णफूल, एक जोड़ी।श्रीमस्तक पे गोल चन्द्रिका।वेणु वेत्र झीने लहरिया के,उष्णकाल के। अन्य सब नित्य क्रम।
Pancham, 2076, Baisakh, Shukla Paksh 09-May-2019 ।।मल्ल काच्छ,टिपारा को श्रृंगार।। वस्त्र:-मल्ल काच्छ,दोनों पटका ,टिपारा ,अंगूरी मलमल के।ठाड़े वस्त्र केसरी डोरिया के।पिछवाई अंगूरी मलमल की। आभरण:-सब उष्ण काल के,मोती के।श्रीकंठ को श्रृंगार छेड़ान को,बाक़ी सब भारी।(हास,पायल,कुंडल,कड़ा,हस्तसाखला आदी)श्रीमस्तक पे टिपारा को साज।वेणु वेत्र सुवा वाले।गोटी उष्णकाल की,बाघ बकरी की। अन्य सब नित्य क्रम।
Chhath, 2076, Baisakh, Shukla Paksh 10-May-2019 ।।सुथन पटका के श्रृंगार।। वस्त्र:-सुथन,पटका, सब फिरोजी,धोरा के।श्रीमस्तक पे फेटा।ठाड़े वस्त्र गुलाबी,मलमल के।पिछवाई फिरोजी,धोरा की। आभरण:-सब मोती के,उष्णकाल के।छेड़ान को श्रृंगार।श्रीमस्तक पे एक चन्द्रिका व एक क़तरा।वेणु वेत्र गंगा जमनी, उष्णकाल के।पट उष्णकाल को,गोटी बाघ बकरी की। अन्य सब नित्य क्रम।
Satam, 2076, Baisakh, Shukla Paksh 11-May-2019 (नि. ली. गों.श्री लाल गिरधरजी को उत्सव) सभी द्वार में डेली मंढे,बंदरवाल बंधे।सभी समय जमनाजल की झरीजी आवे।दो समय थाली की आरती उतारे।आज से मंगला में उपरना नहीं धरावे,आड़बंद धरावे।आज से छिड़काव,फुवारा शुरू।आज से ठाड़े वस्त्र (गिरिराजजी के वस्त्र)नहीं धरावे। वस्त्र:- पिछोड़ा केसरी डोरिया को।छज्जेदार पाग केसरी,स्याम झाई की।आज से ठाड़े वस्त्र नहीं आवे।पिछवाई केसरी,किनारी के फूल वाली। आभरण:-उत्सव के व हीरा मोती के।हल्के श्रृंगार।।त्रवल नहीं आवे,कंठी आवे।श्रीकर्ण में हीरा के झुमका वाले कर्णफूल जोड़ी एक धरावे। श्रीमस्तक पे लूम की किलंगी ,रूपहरी।वेणु वेत्र उष्णकाल के सुवा वाले।गोटी बड़ी हकीक की। दूध घर की बासोदि,जलेबी को गोपी वल्लभ,फीका में चालनी,सकड़ी में शिखरंभात। नि. ली. गो. ति. श्री लालगिरधारीजी महाराज को उत्सव (१६७०)
Atham, 2076, Baisakh, Shukla Paksh 12-May-2019 श्रृंगार,आभरण सब इच्छानुसार। वस्त्र:-धोती,पटका शरबती मलमल के।श्रीमस्तक पे शरबती गोल पाग।पिछवाई वस्त्र जैसी शरबती मलमल की। आभरण:-सब उष्णकाल के,मोती के।हल्के श्रृंगार।श्रीकर्ण में कर्णफूल, एक जोड़ी।श्रीमस्तक पे गोल चन्द्रिका।वेणु वेत्र झीने लहरिया के,उष्णकाल के।गोटी हकीक की छोटी। अन्य सब नित्य क्रम।
Navam, 2076, Baisakh, Shukla Paksh 13-May-2019 श्रृंगार,आभरण सब इच्छानुसार। वस्त्र:-पिछोड़ा गुलाबी मलमल को।श्रीमस्तक पे छज्जेदार पाग।पिछवाई वस्त्र जैसी गुलाबी । आभरण:-सब उष्णकाल के,मोती के।छेड़ान के श्रृंगार।श्रीकर्ण में कर्णफूल, दो जोड़ी।श्रीमस्तक पे जमाव को कतरा,तुर्री।वेणु वेत्र तीनो चाँदी के। गोटी हकीक की। अन्य सब नित्य क्रम।
Dasham, 2076, Baisakh, Shukla Paksh 14-May-2019 श्रृंगार,आभरण सब इच्छानुसार। वस्त्र:-धोती,पटका स्वेत मलमल के,किनारी के।श्रीमस्तक पे गोल पाग।पिछवाई वस्त्र जैसी,स्वेत। आभरण:-सब मोती के,उष्णकाल के।हल्के श्रृंगार।श्रीमस्तक पे क़तरा।वेणु वेत्र झीने लहरिया के,उष्णकाल के।गोटी छोटी हकीक की। अन्य सब नित्य क्रम।
Gyaras, 2076, Baisakh, Shukla Paksh 15-May-2019 वैशाख शुक्ल पक्ष एकादशी ।।सेहरा को श्रृंगार।। वस्त्र:-पिछोड़ा केसरी।पटका अंतरवास को,केसरी।श्रीमस्तक पे केसरी दुमाला।पिछवाई चितराम की,सेहरा के भाव की। आभरण:-सब मोती के,उष्णकाल के।बनमाला को श्रृंगार।कली आदी माला धरावे।श्रीकर्ण में मोती के कुंडल।सेहरा मोती को।चोटीजी मोती की।वेणु वेत्र सुवा वाले,एक चाँदी को।पट, गोटी उष्णकाल के,राग रंग के आवे। अन्य सब नित्य क्रम। मोहनी एकादशी व्रतम
Baras, 2076, Baisakh, Shukla Paksh 16-May-2019 श्रृंगार,आभरण सब इच्छानुसार।
Teras, 2076, Baisakh, Shukla Paksh 17-May-2019 * आगम को श्रृंगार* वस्त्र:-धोती,पटका गुलाबी मलमल के।पाग गोल ,गुलाबी।पिछवाई गुलाबी मलमल की। आभरण:-सब मोती के,उष्णकाल के।श्रीकर्ण में एक जोड़ी. मोती के कर्णफूल। हल्के श्रृंगार। श्रीमस्तक पे मोर चन्द्रिका।वेणु वेत्र चाँदी के।गोटी उष्णकाल की। अन्य सब नित्य क्रम। श्री नृसिंह जयन्ती व्रतम |चतुर्थी को क्षय हाइवे सूं आज |
Punam, 2076, Baisakh, Shukla Paksh 18-May-2019 ।।ऋतू की पहली परदनी के श्रृंगार।। वस्त्र:-परदनी, गोल पाग छोर वाली स्वेत बिना किनारी के।पिछवाई स्वेत बिना किनारी की। आभरण:-सब मोती के,उष्णकाल के। श्रीकर्ण में मोती के कर्णफूल ।हल्के श्रृंगार।श्रीमस्तक पे स्वेत खंडेला (स्वेत मोरपंख को दोहरा क़तरा)वेणु वेत्र चाँदी के।गोटी हकीक की छोटी। अन्य सब नित्य क्रम।