Attention! Please enable Javascript else website won't work as expected !!

Daily Tippani | Shrinathji Temple, Nathdwara

Tithi Tippani Date Shringar Utsav
Ekam, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 27-Nov-2019 श्रृंगार,आभरण सब इच्छानुसार वस्त्र:- चागदार बागा,चोली,सुथन,गुलाबी साटन के।पटका गुलाबी मलमल को।पाग पचरंगी।ठाड़े वस्त्र हरे।पिछवाई शीतकाल की। आभरण:- सब हरे मीना के।छेड़ान के श्रृंगार।कमल माला धरावे।श्रीकर्ण में कर्ण फूल,दो जोड़ी।श्रीमस्तक पे जमाव को कतरा व रूपहरी तुर्री ।लूम रेशम की।पट हरो ,गोटी मीना की। आरती पीछे श्रीकंठ के श्रृंगार बड़े करके,हलके श्रृंगार धरावे।लूम तुर्रा रूपहरी।
Duj, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 28-Nov-2019 *चंदा उगे को श्रृंगार* वस्त्र:-घेरदार बागा,चोली,सुथन,चीरा रूपहरी जरी के, बिना किनारी के। ठाड़े वस्त्र मेघस्याम।पिछवाई स्याम धरती पे फूल पत्ती,सखी व चन्द्रमा की। आभरण :-सब मोतीं के।हल्को श्रृंगार।चन्द्रमा घाट की जुगावाली,शीश फूल पे चन्द्रमा व श्रीमस्तक पे चन्द्रमा घाट को कतरा धरावे।वेणु वेत्र चाँदी के।पट रूपहरी जरी को,गोटी चाँदी की।अलख धरावे। आरती पीछे श्रीकंठ के श्रृंगार बड़े करने।लूम तुर्रा रूपहरी।माला सभी समय सफ़ेद मनका की आवे। दूज को चंदा |
Tij, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 29-Nov-2019 वस्त्र,श्रृंगार सब इच्छानुसार वस्त्र:-घेरदार बागा,चोली,सुथन,गोल पाग सब फिरोजी साटन के।ठाड़े वस्त्र पतंगी। पिछवाई शीतकाल की। आभरण:-सब मानक के।हल्के श्रृंगार। श्रीकर्ण में कर्णफूल, एक जोड़ी।श्रीमस्तक पे कतरा, चन्द्रिका। आरती पीछे श्रीकंठ के श्रृंगार बड़े करने।लूम,तुर्रा रूपहरी। अन्य सब नित्य क्रम।
Choth, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 30-Nov-2019 (शीतकाल के चार सेहरा में प्रथम सेहरा) शीतकाल में जब भी सेहरा धरावे तो मिठी द्वादसी अरोगे। वस्त्र:-चागदार बागा,सुथन,चोली केसरी साटन के।पटका केसरी मलमल को,अन्तवास को धरावे।श्रीमस्तक पे दुमाला केसरी।ठाड़े वस्त्र मेघस्याम।पिछवाई शीतकाल की ,सेहरा के भाव की। आभरण :-सब पन्ना के। बनमाला को श्रृंगार।कस्तूरी,कली व कमल माला धरावे।श्रीकर्ण में कुंडल।सेहरा हीरा को।चोटीजी मीना की।वेणु वैत्र लहारिया के।पट केसरी,गोटी राग रंग की। आरती पीछे श्रीकंठ के श्रृंगार,सेहरा बड़ो करने।छेड़ान के श्रृंगार धरावे।सिरपेच,टिका धरावे।लूम तुर्रा नहीं आवे। दुमाला रहे।अनोसर में दुमाला बड़ो करके छज्जेदार पाग धरावे। सामग्री :- विशेष में मिठी खांड के रस की द्वादसी (लापसी)अरोगे।
Pancham, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 01-Dec-2019 *प्रियाजी को दूसरों मंगल भोग* वस्त्र:-घेरदार बागा,चोली,सुथन ,सब पतंगी साटन के किनारी के फूल वाले।हीरा की गोल पाग,जडाऊ।ठाड़े वस्त्र मेघस्याम।पिछवाई गुलाबी साटन, हरो हाशिया में जरी की बूटी वाली। आभरण:-सब हीरा के हल्के श्रृंगार।कर्ण फूल झुमका के।वेणु वेत्र भाभीजी वाले।पट गुलाबी,गोटी चाँदी की।श्रीमस्तक पे चमकनी चन्द्रिका। आरती पीछे श्रीकंठ के श्रृंगार व हीरा की पाग बड़ी करनी।गुलाबी गोल धरानी।लूम तुर्रा रूपहरी। सामग्री:-आज विशेष में मंगल भोग में सकड़ी अरोगे ।ये प्रियाजी में सिद्ध हो के आवे। श्री मदनमोहनजी को पाटोत्स्व |
Chhath, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 02-Dec-2019 श्रृंगार,आभरण सब इच्छानुसार वस्त्र:- घेरदार बागा,चोली,सुथन ,हरे साटन के।पटका हरों मलमल को।पाग दुरंगी।ठाड़े वस्त्र लाल।पिछवाई शीतकाल की। आभरण:- सब गुलाबी मीना के।हल्के श्रृंगार।कर्ण फूल एक जोड़ी।श्रीमस्तक पे कतरा,चंद्रिका।वेणु वैत्र लाल मीना के।पट हरो ,गोटी मीना की। आरती पीछे श्रीकंठ के श्रृंगार बड़े करने।लूम तुर्रा रूपहरी।
Satam, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 03-Dec-2019 उत्सव विशेष :- डेली मढ़े,बंदरवाल बंधे। जमनाजल की झारीजी भरावे। थाली की आरती आवे।राजभोग में सिकोरी में अधकी बीड़ा अरोगे।गेंद,चौगान,दिवला सोना के। वस्त्र:-चागदार बागा,चोली,सुथन ,लाल साटन पे छापा के।किनारी सुनहरी।पटका लाल।कूल्हे व मोजाजी ,जडाऊ गोकुलनाथजी के।ठाड़े वस्त्र मेघस्याम ,छापा के भी ले है ।पिछवाई लाल मखमल की । आभरण:-सब उत्सव के।माणक की प्रधानता।कली, कस्तूरी सब धरावे।त्रवल नहीं आवे,टोडर धरावे।चोटीजी माणक की।बघनखा धरावे।श्रीमस्तक पे पाँच मोर चन्द्रिका को जोड़ आवे।वेणु वेत्र माणक के,एक हीरा को।आरसी चार झाड़ की।पट उत्सव को,गोटी सोना की जाली की। आरती पीछे श्रीकंठ के श्रृंगार व जडाऊ मोजाजी,कूल्हे बड़े करने।छेड़ान के श्रृंगार करने।मोजाजी व कूल्हे लाल छापा के धरावे। सामग्री :-भोग में केसर युक्त पेठा व मीठी सेव ,दुध घर की हाडी ,तले सूखे मेवे आदीअरोगे।आज से मंगल भोग में नित्य दूध घर की स्वाग सोंठ अरोगे। श्री गुसाईजी के चतुर्थ लालजी श्री गोकुलनाथजी को उत्सव (१६०८) |
Atham, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 04-Dec-2019 डेली मढ़े,बंदरवाल बंधे। सभी समय जमना जल की झारीजी आवे।दो समय थाली की आरती आवे।गेंद,चौगान,दिवाला सोना के। वस्त्र:-चागदार बागा,चोली,सुथन ,लाल खिनखाब के।श्रीमस्तक पे हीरा की कूल्हे,टकमा हीरा के मोजाजी।पटका केसरी।ठाड़े वस्त्र हरे।पिछवाई लाल मखमल पे काँच के टुकड़ा की।गदल,रजाई लाल खिनखाब के। आभरण:-सब हीरा के।बनमाला को श्रृंगार।सब आभरण उत्सव वत धराने।कली, कस्तूरी सब आवे।श्रीमस्तक पे सुनहरी घेरा।चोटी हीरा की।वेणु वेत्र हीरा के,एक पन्ना को।आरसी चार झाड़ की।पट उत्सव को,गोटी जडाऊ। सामग्री:- भोग में गोपिवल्लभ दहिथड़ा को।दूध घर की हाडी,केसरी पेठा,मीठी सेव आदि अरोगे। सातस्वरूप को उत्सव | नि. ली.गो.ति. श्री गोवर्धनेशजी महाराज कृत |
Navam, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 05-Dec-2019 *श्रीगुसांईजी के उत्सव की बधाई* *लाल घटा* आज से झांझ की बधाई बैठे। वस्त्र:-घेरदार बागा,चोली,सुथन,गोलपाग,मोजाजी,पिछवाई,ठाड़े वस्त्र, खंड,पाट, चौकी,सब साज ,लाल दरियाई को। आभरण:-सब माणक के।हल्के श्रृंगार।पग पे कतरा लाल रेशम को ।वेणु वेत्र लाल मीणा के।पट लाल ,गोटी चाँदी की। अन्य सब नित्य क्रम। श्री गुंसाईजी के उत्सव की बधाई (लालघटा), धनुर्मासारम्भ
Dasham, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 06-Dec-2019 श्रृंगार,आभरण सब इच्छानुसार। वस्त्र:- चागदार बागा,चोली,सुथन ,पिले साटन के।पटका पिलो मलमल को।पाग छज्जेदार।ठाड़े वस्त्र हरे।पिछवाई शीतकाल की। आभरण:- सब हरे मीना के।छेड़ान के श्रृंगार।कमल माला धरावे।कर्ण फूल दो जोड़ी।श्रीमस्तक पे जमाव को कतरा व रूपहरी तुर्री ।लूम रेशम की।वेणु वेत्र हरे मीना के।पट पिलो,गोटी मीना की।
Gyaras, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 07-Dec-2019 श्रृंगार आभरण सब इच्छानुसार।लसनिया को जडाऊ कूल्हे पगा को पान धरावे। वस्त्र:-चागदार बागा,चोली,सुथन, गुलाबी साटन के,ठाड़े वस्त्र मेघस्याम।पिछवाई शीतकाल की।रुमाल पिलो छापा को। आभरण:-सब फिरोजा के।बनमाला को श्रृंगार।कस्तूरी,कली व कमल माला धरावे।श्रीकर्ण में कुंडल।श्रीमस्तक पे लसनिया को कूल्हे,वापे पगा को पान व टिपारा को साज(बिच की चन्द्रिका व दोनों कतरा)धरावे।रुमाल धरावे तब चोटीजी नहीं धरावे।वेणु वेत्र लहरिया के।पट फिरोजी,गोटी बाघ,बकरी की। अन्य सब नित्त्य क्रम।
Gyaras, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 08-Dec-2019 श्रृंगार आभरण सब इच्छानुसार।लसनिया को जडाऊ कूल्हे पगा को पान धरावे। वस्त्र:-चागदार बागा,चोली,सुथन, गुलाबी साटन के,ठाड़े वस्त्र मेघस्याम।पिछवाई शीतकाल की।रुमाल पिलो छापा को। आभरण:-सब फिरोजा के।बनमाला को श्रृंगार।कस्तूरी,कली व कमल माला धरावे।श्रीकर्ण में कुंडल।श्रीमस्तक पे लसनिया को कूल्हे,वापे पगा को पान व टिपारा को साज(बिच की चन्द्रिका व दोनों कतरा)धरावे।रुमाल धरावे तब चोटीजी नहीं धरावे।वेणु वेत्र लहरिया के।पट फिरोजी,गोटी बाघ,बकरी की। अन्य सब नित्त्य क्रम। मोक्षदा एकादशी व्रतम् |
Baras, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 09-Dec-2019 प्रियाजी की दूसरी चौकी। वस्त्र:-घेरदार बागा,चोली,सुथन हरे साटन के ,लाल गॉट वाले।मोजाजी व गोल पाग लाल।आज बन्ध धरावे ,लाल दरियाई के।ठाड़े वस्त्र सफ़ेद चिकने(लट्ठा) के। पिछवाई हरी सुनहरी किनारी की। आभरण:-सब मोतीं के।चार माला धरावे।त्रवल की जगह कंठी आवे।श्रीमस्तक पे दोहरा मोर कतरा सुनहरी दुहरी फोदना को।वेणु वेत्र सुआ के। सामग्री:- आज विशेष में मंगल भोग व गोपिवल्लभ में प्रियाजी में सिद्ध हुए खीरबड़ा अरोगे।
Teras, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 10-Dec-2019 * प्रभु श्री बिट्ठल नाथजी को प्रथम मंगलभोग* वस्त्र:- केसरी चागदार बागा,चोली,सुथन,पटका,छज्जेदार पागये सब विट्ठलनाथजी से आवे।ठाड़े वस्त्र लाल।पिछवाई शीतकाल की। आभरण:-सब फिरोजा मीना के।छेड़ान के श्रृंगार। कमल माला धरावे।श्रीमस्तक पे जमाव को कतरा व लूम तुर्री धरावे।वेणु वेत्र फिरोजा मीना के, एक सोना को।पट केसरी,गोटी मीना की। आरती पीछे श्रीकंठ के आभरण बड़े करने, हल्के श्रृंगार धरावे।लूम ,तुर्रा सुनहरी।
Chaudash, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 11-Dec-2019 ।। अमरसी घटा ।। वस्त्र:-घेरदार बागा,चोली,सुथन सब अमरसी दरियाई के। श्री मस्तक पे गोल पाग। ठाड़े वस्त्र,खंड पाट, तकिया,पिछवाई, सिंघासन आदि सब साज अमरसी दरियाई के। आभरण :-सब सोना के।हल्के श्रृंगार। चार माला धरावे।श्रीमस्तक पे अमरसी रेशम को दोहरा कतरा ,अमरसी।वेणु वेत्र सोनेके। पट अमरसी,गोटी सोना की। श्रृंगार में आरसी सोना की आरती पीछे श्रीकंठ के आभरण बड़े होवे। लूम तुर्रा सुनहरी। अन्य सब नित्य क्रम।।
Punam, 2076, Margshirsh, Shukla Paksh 12-Dec-2019 नियम को छप्पनभोग।श्रीबलदेवजी को उत्त्सव। छप्पन भोग , बलदेवजी को उत्सव , गोपमास की समाप्ति |